Aman Samachar
ब्रेकिंग न्यूज़
अन्य

एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक ने हाई-नेट-वर्थ ग्राहकों के लिए एयू आईवी प्रोग्राम किया लॉन्च

मुंबई [ अमन न्यूज नेटवर्क ] भारत के सबसे बड़े एसएफबी, एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक ने बिल्कुल नए एयू आइवी प्रोग्राम के लॉन्च की घोषणा की है। इसे समृद्ध ग्राहकों यानी हाई-नेट-वर्थ इंडिविजुअल्स (एचएनआई) और अत्यधिक समृद्ध ग्राहकों यानी अल्ट्रा-हाई नेट वर्थ इंडिविजुअल्स (अल्ट्रा-एचएनआई) के लिए विशेष रूप से डिज़ाइन किया गया है। यह बेहतरीन प्रीमियम बैंकिंग कार्यक्रम विशिष्टता का शिखर है, जिसे चुनिंदा ग्राहकों को व्यक्तिगत निमंत्रण के माध्यम से आगे बढ़ाया जाता है।

       एयू आइवी कार्यक्रम को सीएक्सओ, शीर्ष स्तरीय पेशेवरों और खुद का कारोबार करने वाले उद्यमियों सहित प्रतिष्ठित व्यक्तियों की खास जरूरतों को ध्यान में रखते हुये सावधानीपूर्वक तैयार किया गया है। यह पहल लंबे समय तक चलने वाले रिश्तों को विकसित करने और विशिष्ट बैंकिंग अनुभवों का एक संग्रह प्रदान करने की नींव पर तैयार की गई है जो इन विशिष्ट ग्राहकों की अनूठी आकांक्षाओं के अनुरूप है।

     एयू आइवी प्रोग्राम के केंद्र में इसकी सबसे खास विशेषता है – ‘3-इन-1 मेटालिक डेबिट कार्ड।’ प्रतिष्ठित वीज़ा इनफिनिट प्लेटफ़ॉर्म पर निर्मित यह कार्ड, डेबिट, फॉरेक्स और प्रायोरिटी (प्राथमिकता) पास के कार्यों को सहजता से एक साथ जोड़ता है। यह सिर्फ एक कार्ड नहीं है, बल्कि सुविधा और विलासिता की दुनिया का प्रवेश द्वार है। मुफ्त सेवाओं की एक श्रृंखला और ‘कोई शुल्क नहीं” वादे की पेशकश करते हुए, यह कार्यक्रम बैंकिंग अनुभवों को फिर से परिभाषित करने के लिए एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक की प्रतिबद्धता की पहचान के रूप में पेश किया गया है।

संबंधित पोस्ट

इस रक्षाबंधन पर ये Smartwatch बन सकती हैं गिफ्ट का बेस्ट ऑप्शन, कीमत 2499 रुपये से शुरू

Admin

महिला के गले से मंगलसूत्र ले उड़े बाईक सवार

Aman Samachar

भारत के साथ मजबूती से खड़ा हुआ ऑस्ट्रेलिया, LAC पर यथास्थिति बदलने के एकतरफा प्रयास का किया विरोध

Admin

वज्रेश्वरी के डिव्हाईन हाईस्कूल पर कार्रवाई की मांग ,फीस की सख्ती के विरोध में अविभावक हुए एकजुट

Aman Samachar

जब पहली बार किसी गेंदबाज ने पूरी टीम को किया ढेर, 64 साल के बाद भी है विश्व रिकॉर्ड

Admin

नवंबर तक महाराष्ट्र को पूर्ण अनलाक होने का आरोग्य मंत्री ने दिया संकेत

Admin
error: Content is protected !!