Aman Samachar
ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़सामाजिक

मैं भारत हूं संघ’ के कार्यक्रम में ठाणे की समाजसेवी हस्तियों को मिला ‘ठाणे नवरत्न पुरस्कार’

ठाणे , मैं भारत हूं संघ के बैनर तले आयोजित कार्यक्रम में ठाणे शहर की नामचीन हस्तियों को ‘ठाणे नवरत्न’ सम्मान से गौरवान्वित किया गया है। ये हस्तियां विभिन्न क्षेत्रों में कड़े संघर्ष के बाद सफलता पाई और खुद की पहचान बनाई है। ऐसी हस्तियों के सम्मान हेतु मैं भारत हूं संघ द्वारा ठाणे में वेबिनार के माध्यम आयोजित कार्यक्रम के दौरान उन्हें सम्मानित किया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन मैं भारत हूं संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष बिजय कुमार जैन (मुंबई) व राष्ट्रीय प्रभारी श्रीमती अनुपमा शर्मा दाधीच के मार्गदर्शन में कानबिहारी अग्रवाल व अन्य पदाधिकारियों ने किया। इस कार्यक्रम के निवेदक महेश अग्रवाल, श्रीमती सुमन अग्रवाल और ओमप्रकाश अग्रवाल थे।
कार्यक्रम के दौरान सम्मानित ठाणे के १७ नवरत्नों ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि मैं भारत हूं, मुझे भारत ही रहने दो में सौ प्रतिशत सत्यता है। इतना ही नहीं भारत यथार्थ है। इंडिया कभी भी यथार्थ नहीं हो सकता। इंडिया हम भारतीयों की भावनाओंसे उपजा हुआ शब्द नहीं है। यानी कहा जाए तो इंडिया नामकरण भारत का किया जाना यह हमारी दास्ता का ही प्रतीक है। इस प्रतीक से देश को मुक्ति चाहिए। समय आ गया है कि भारत को भारत ही रहने के लिए हर स्तर पर प्रयास होना चाहिए। साहित्य क्षेत्र से जुड़ी हस्तियां इसके लिए संघर्ष कर रही हैं। वेबिनार में वक्ताओंने इस बात पर भी बल दिया कि इंडिया शब्द कभी भी किसी भारतीय की आत्मा से जुड़ नहीं सकता है। वेबिनार में भाग लेनेवालों ने पूरे उत्साह के साथ कहा कि इसके लिए अभियान भी राष्ट्रीय स्तर पर चलाया जा रहा है।  आयोजकों का मानना था कि यह अभियान एवं मांग सामूहिक प्रयास बिना संपूर्णता प्राप्त नहीं कर सकता। जब हर भारतवासी कहेगा कि ‘मैं भारत हूं’ और हम सभी भारतवासी है तो निश्चित ही हमारी मांग भारत सरकार सुनेगी। जब कोई हमें इंडियन कहता है तो लगता हैं मानो याद दिला रहा हो कि हम आज भी गुलाम हैं। सर्वोच्च अदालत ने ३ जून २०२० को कहा है कि यह संशोधन संसद यानी kोंÀद्र सरकार द्वारा ही होगा, तो हमें सब कटिबद्धता के बाद इस याचिका को संसद में ही दर्ज कराएंगे। भारतवासियों! वीरों ने बलिदान द्वारा भारत को गुलामी की दासता से मुक्त करवाया। भारत के इतिहास को जानने और वर्तमान संविधान को समझने का यह महत्त्वपूर्ण अवसर है। हमने तो अपने कदम बढ़ा दिए हैं, कलम को भी उठा लिया है और भारत मां के नाम का सम्मान दिलाने हेतु को जनअभियान में बदलने का बीज रोप दिया है।  ठाणे शहर की जिन १७ नामचीन हस्तियों को ‘ठाणे रत्न पुरस्कार’ प्रदान किया गया है उनके नाम महेश अग्रवाल, श्रीमती सुमन अग्रवाल, श्याम अग्रवाल, सुरेश पहािड़या, अशोक जैन, ओमप्रकाश अग्रवाल, संजय मित्तल, अनिल गोयल, चतुर्भुज अग्रवाल, अशोक अग्रवाल, राजेश हलवाई, राधारमण अग्रवाल, पिंटु कुमावत,  संजीव अग्रवाल, रामचंद्र तोदी, पदमचंद काला, जनक व्यास आदि शामिल हैं।  कार्यक्रम के सफल आयोजन में सहयोग देने वालों के प्रति आयोजकों ने अपना आभार व्यक्त किया।

संबंधित पोस्ट

पार्टी नेताओं के सवालों पर आत्मचिंतन कर कांग्रेस आलाकमान कब पूरी ताकत से विरोधी दल को चुनौती देगा

Aman Samachar

मुंब्रा कौसा की सडकों के अधूरे कार्य व विस्थापितों के पुनर्वास का पठान ने स्थाई समिति में उठाया मुद्दा

Aman Samachar

पूर्व प्रधानाचार्य स्व. डॉ नंदलाल सिंह को भावभीनी श्रद्धांजलि

Aman Samachar

छत्रपति शिवाजी महाराज अस्पताल में मेडिकल शॉप का टेंडर सिर्फ वेलनेस और नोबेल के लिए – आनंद परांजपे

Aman Samachar

बाबा रामदेव का योग शिबिर व महिला सम्मेलन शुक्रवार 25 नवम्बर को ठाणे में

Aman Samachar

ग्रीनसेल मोबिलिटी, पर्यावरण, सुरक्षा, ऊर्जा व क्वालिटी मैनेजमेंट के लिए संचालित करती है सबसे बढ़िया स्टैंडर्ड्स

Aman Samachar
error: Content is protected !!