Aman Samachar
ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़मनोरंजन

द इंडियन परफॉर्मिंग राइट सोसाइटी लिमिटेड में शामिल हुआ टी-सीरीज़ 

मुंबई , भारत – टी-सीरीज़ और द इंडियन परफॉर्मिंग राइट सोसाइटी लिमिटेड (“आईपीआरएस”) ने आज एक संयुक्त प्रेस विज्ञप्ति में घोषणा की कि सुपर कैसेट्स इंडस्ट्रीज लिमिटेड, के नाम से पहचाने जाने वाले “टी-सीरीज़”, ने आईपीआरएस की सदस्यता ग्रहण कर ली है।
           अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, श्री भूषण कुमार के नेतृत्व में, भारत की प्रमुख म्यूज़िक लेबल और देश की सबसे बड़ी फ़िल्म प्रोडक्शन स्टूडियो, टी-सीरीज़ के, आईपीआरएस में शामिल होने से उसके पास 200,000 से अधिक टाइटल्स का एक विशाल म्यूजिक लाइब्रेरी आ गई है। जिसमें 50,000 से अधिक म्यूजिक वीडियोज शामिल हैं, जिनमें 15000 घंटे से अधिक का संगीत जिसमें हिंदी, पंजाबी, भोजपुरी, हरियाणवी, बंगाली, गुजराती, मराठी, राजस्थानी, तमिल, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम, उड़िया आदि जैसी पंद्रह से अधिक भारतीय भाषाओं के म्यूजिकल कंपोजिशंस और सॉन्ग/ म्यूजिक वीडियोज शामिल हैं।
             यह घटना भारतीय संगीत उद्योग का एक महत्वपूर्ण पल है जो आईपीआरएस को एक गेम चेंजिंग भूमिका में लाएगा, जो रजिस्टर्ड इंडियन कॉपीराइट सोसायटी है और संगीतकारों, गीतकारों और म्यूजिक के ऑनर पब्लिशर्स का प्रतिनिधित्व करती है। सदस्य के रूप में टी-सीरीज़ की मौजूदगी से आईपीआरएस के लेखकों और म्यूजिक कंपोजर सदस्यों को काफी फायदा होगा।
             आईपीआरएस अब टी-सीरीज़ म्यूज़िक पब्लिशिंग कैटलॉग ऑफ़ लिरिक्स एंड म्यूज़िकल कंपोज़िशन का प्रतिनिधित्व करेगा और कई तरह के प्लेटफ़ॉर्म्स और बिज़नेसेस को  लाइसेंस देगा, जो भारत में संगीत के क्षेत्र से जुड़े हुए हैं और भारत में म्यूज़िक पब्लिशिंग इकोसिस्टम को बढ़ाते हैं और बहुत से बिजनेस को लाइसेंस देकर इज ऑफ डूइंग बिज़नेस में सुधार करते हैं। इसमें ब्रॉडकास्टर्स, डिजिटल सर्विसेस, टेलकोज और कई और छोटे व्यवसाय शामिल हैं जो साउंड रिकॉर्डिंग या एक म्यूजिक वीडियोज के अंतर्गत आने वाले कार्यों के लिए सिंगल विंडो क्लीयरेंस के तहत लाइसेंस पाने की चाह रखते हैं।
          आईपीआरएस के चेयरमैन व जाने-माने गीतकार श्री जावेद अख्तर ने कहा, – ” मैं इसे टी-सीरीज़ के लिए घर वापसी के तौर पर देखता हूं। श्री भूषण कुमार और टी-सीरीज़ परिवार को अपने कॉपीराइट कैटलॉग को एक बार फिर से आईपीआरएस को सौंपने के लिए तहे दिल से धन्यवाद देता हूं। यह टी-सीरीज और हमारे लेखक व संगीतकार सदस्यों दोनों के लिए फायदे का प्रस्ताव है जो उन्हें जबरदस्त रूप से फायदा पहुंचाएगा। पूरी म्यूजिक इंडस्ट्री आज इस बात को लेकर दृढ़ संकल्पित और एकजुट है कि निर्माता, म्यूजिक बिजनेसेस सभी एक साथ मिलकर साझा हित में काम करेंगे। मैं आईपीआरएस के अपने साथी निदेशकों की वजह से यहां जुड़ा हूं कि आईपीआरएस के बोर्ड में श्री भूषण कुमार का स्वागत करता हूं।
               टी-सीरीज़ के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक, श्री भूषण कुमार ने कहा – “टी-सीरीज़ जो भी बनाता है, कॉपीराइट उसके दिल और आत्मा में है। आईपीआरएस में हमारा शामिल होना कंपनी के लिए तार्किक प्रगति है। हमने पूरी म्यूजिक इंडस्ट्री के हित में यह निर्णय लिया – आज पूरी इंडस्ट्री, निर्माता, म्यूजिक बिजनेसेस, सभी एकजुट हैं, और अपने देश की प्रगति में योगदान करने वाले साझेदारों के एक सहज गठबंधन का प्रतिनिधित्व करते हैं तथा साझा हित में साथ मिलकर काम कर रहे हैं। टी-सीरीज आईपीआरएस और इसके सदस्यों का महत्व और बढ़ाएगा। हम भविष्य में अपने समर्थन से आईपीआरएस के और आगे प्रगति करने की उम्मीद करते हैं ताकि यह निर्माता समुदाय के साथ ही इंडस्ट्री के लिए और भी फायदेमंद साबित हो सके।”
           यूनिवर्सल म्यूजिक ग्रुप, इंडिया और साउथ एशिया के प्रबंध निदेशक और सीईओ, श्री देवराज सान्याल ने कहा – “इंडियन म्यूजिक इंडस्ट्री के पब्लिशिंग बिजनेस में प्रभावी बदलाव के लिए, निष्पक्षता, पारदर्शिता और न्यायसंगत के लिए समान पारिश्रमिक के एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए आपको सभी प्रमुख खिलाड़ियों को एक साथ लाने की जरूरत है। इसमें ऑनर पब्लिशर्स, और हमारे सम्मानित लेखक संगीतकार और अब मेरे प्यारे दोस्त भूषण और टी-सीरीज़ की टीम के लोग भी शामिल हैं जो आज आईपीआरएस में शामिल हो रहे हैं। जावेद साब, भूषण और मेरे सभी साथी बोर्ड मेंबर्स के साथ मुझे यकीन है कि अब हम रचनाकारों और कॉपीराइट ऑनर्स के लिए एक सुनहरा युग देखेंगे।
          आईपीआरएस के सीईओ श्री राकेश निगम ने कहा, “मुझे खुशी है कि टी-सीरीज आईपीआरएस में शामिल हो रहा है। इससे आईपीआरएस के लेखकों और संगीतकार सदस्यों को बहुत फायदा होगा। टी-सीरीज़ न सिर्फ संगीत और फिल्म इंडस्ट्री में मार्केट लीडर है, बल्कि यह एक बेहद सफल इंक्यूबेशन लैब भी है और बहुत से युवा प्रतिभाशाली रचनाकारों के लिए जमीन मुहैया करा रहा है, उनमें से सभी को आईपीआरएस के साथ जुड़ाव से फायदा होगा।”

संबंधित पोस्ट

सीआईआई और आईटीसी होटल ने स्विस प्रोफेशनल डिप्लोमा कोर्स के लिए EHL ग्रुप के साथ मिलाया हाथ 

Aman Samachar

गीता जयंती पर श्रीमद्भगवद्गीता रथयात्रा एवं कलश यात्रा में बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल

Aman Samachar

अतिधोखादायक रंगायतन की जगह नई इमारत बनाने की मनपा आयुक्त से मांग 

Aman Samachar

मातृ एवं शिशु केंद्रों में स्त्री रोग विशेषज्ञ की पूर्णकालिक उपस्थिति अनिवार्य – मनपा आयुक्त 

Aman Samachar

मानसून की पहली बारिश में भिवंडी की सड़कें जलमग्न , जनजीवन अस्त व्यस्त  ,

Aman Samachar

पंजाब नैशनल बैंक ने हर घर तिरंगा अभियान में हिस्सा लेते हुए वाकथान का किया आयोजन

Aman Samachar
error: Content is protected !!