Aman Samachar
ब्रेकिंग न्यूज़
कारोबारब्रेकिंग न्यूज़

स्टर्लिंग जेनरेटर ने धरती को अधिक हरा-भरा बनाए रखने के लिए रेट्रोफिट एमिशन कंट्रोल डिवाइस किया लॉन्च

मुंबई , स्टर्लिंग एंड विल्सन ग्रुप की कंपनी और तथा भारत में जेनसेट का निर्माण करने वाली अग्रणी कंपनियों में से एक, स्टर्लिंग जेनरेटर प्राइवेट लिमिटेड (SGPL) ने पीआई ग्रीन इनोवेशन के सहयोग से स्वच्छ हवा के लिए एक अभिनव समाधान, रेट्रोफिट एमिशन कंट्रोल डिवाइस (RECD) के लॉन्च की घोषणा की। RECD को फ़िल्टर-रहित तकनीक से बनाया गया है, जो इलेक्ट्रोस्टैटिक प्रिसिपिटैशन के बुनियादी सिद्धांतों पर आधारित है। यह इंजन एग्जॉस्ट से निकलने वाले पार्टिकुलेट मैटर (PM) को 70 प्रतिशत से अधिक कुशलता के साथ पकड़ लेता है।

        इस प्रोडक्ट के लॉन्च के बारे में अपनी राय जाहिर करते हुए, स्टर्लिंग जेनरेटर प्राइवेट लिमिटेड के सीईओ, श्री संजय जाधव ने कहा, हमें RECD टेक्नोलॉजी के लिए पीआई ग्रीन इनोवेशन के साथ साझेदारी करके बेहद खुशी हो रही है। यह साझेदारी हमारे लिए अपने ग्राहकों को उपलब्ध कराए जाने वाले प्रोडक्ट्स की पेशकश का विस्तार करने और उन्हें बेहतर बनाने का शानदार अवसर प्रदान करता है। लॉन्च किया गया RECD हवा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने के मामले में बेहद कारगर है और यह हमारे ग्राहकों को प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मानदंडों के अनुसार पीएम अनुपालन की आवश्यकता को पूरा करने के लिए व्यावहारिक समाधान प्रदान करता है।

       उन्होंने आगे कहा किस्टर्लिंग जेनरेटर का यह मानना है कि पर्यावरण को हमेशा के लिए बनाए रखना हम सभी की जिम्मेदारी हैऔर यह साझेदारी बताती है कि हम अपने ग्राहकों और अपनी धरती के लिए स्वच्छअधिक कुशल समाधान की तलाश के लिए पूरी तरह समर्पित हैं। हम पीआई ग्रीन इनोवेशन के साथ मिलकर उद्योग जगत द्वारा वायु प्रदूषण से निपटने के तरीकों को नए सिरे से परिभाषित करना चाहते हैंसाथ ही स्वच्छ ऊर्जा समाधानों के लिए एक नई मिसाल कायम करना चाहते हैं।”

         RECD को DG एग्जॉस्ट (मफलर/साइलेंसर) के बाद इन्स्टॉल किया जाता है, जिसके लिए इंजन/डीजी सेट में किसी भी तरह के बदलाव की जरूरत नहीं होती है। इस टेक्नोलॉजी की सबसे बड़ी खासियत यह है कि, इसके जरिए अलग किए गए पार्टिकुलेट मैटर/बायप्रोडक्ट को नया रूप देने के साथ-साथ इसे लेजर प्रिंटर और कॉपियर के लिए पेंट, डाई, टोनर में अधिक मूल्य वाले कच्चे माल के रूप में फिर से उपयोग में लाया जा सकता है। इसके अलावा, रबर के ट्रीटमेंट के लिए वल्केनाइजेशन की प्रक्रिया में भी इसका उपयोग किया जा सकता है, जिसकी वजह से पार्टिकुलेट मैटर/बायप्रोडक्ट का निपटान करने और द्वितीयक संदूषण की आवश्यकता भी नहीं रहती है। बेहद सरल, कुशल और मजबूत निर्माण के साथ तैयार किया गया यह प्रोडक्ट पूरी तरह से मौसम प्रतिरोधी है, जिसके लिए बेहद कम रखरखाव की जरूरत होती है, जो लगातार बेहतर प्रदर्शन के साथ-साथ लंबे समय तक परिचालन को सुनिश्चित करता है।

संबंधित पोस्ट

टोरेंट पावर कंपनी महावितरण व नियामक आयोग दिशानिर्देशों और विनियमों के तहत सेवा दे रही

Aman Samachar

सिडको एक्जीबिशन सेंटर में आयसीयु सुविधा का पालकमंत्री शिंदे ने किया निरिक्षण 

Aman Samachar

धूमधाम से संगीत उत्सव व सेमिनार संपन्न

Aman Samachar

मनपा वैद्यकीय आरोग्य अधिकारी पद पर कनिष्ठ डॉक्टर की नियुक्ति से आरोग्य यंत्रणा चरमराई

Aman Samachar

गौ वंश को बचाना हम सभी का कर्तव्य -सन्नी अग्रवाल

Aman Samachar

भारत अगले 20 वर्षों में दुनिया भर में ऊर्जा की मांग में सबसे बड़ी वृद्धि देखेगा -इन्फोमेरिक्स

Aman Samachar
error: Content is protected !!