Aman Samachar
ब्रेकिंग न्यूज़
खास खबर

नवंबर तक महाराष्ट्र को पूर्ण अनलाक होने का आरोग्य मंत्री ने दिया संकेत

 

मुंबई [ युनिस खान ]कोरोना लाक डाउन के कई नियमों को शिथिल किया गया है नवम्बर  तक राज्य में लाक डाउन समाप्त होने की उम्मीद है . इस आशय का संकेत राज्य आरोग्य मंत्री  टोपे ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान दिया है . उन्होंने चरणवद्ध  तरीके से स्कूल , धार्मिक स्थल खोलने के साथ नवंबर तक संपूर्ण महाराष्ट्र को अनलाक होने की उम्मीद जताया है .

राज्य में अनलाक का पांचवां चरण शुरू है . मिशन बिगिन अगेन के तहत अनेक नियमों को शिथिल कर राज्य में होटल ,रेस्टोरेंट ,बार को खोलने की अनुमति दी  है . 50 फीसदी ग्राहक क्षमता की शर्त पर उन्हें खोलने की अनुमति दी   गयी   है .राज्य में अंतर्गत रेलवे शुरू करने की अनुमति दी गयी है .एसटी   समेत निजी बसों को 100 फीसदी क्षमता के साथ सेवा देने की छूट  है . धार्मिक स्थल , स्कूल ,व्यायाम शाला  मुंबई की लोकल ट्रेन सेवा शुरू करने की निरंतर मांग की जा रही है . इन मुद्दों पर राज्य   सरकार गंभीरता विचार कर रही है .उन्होंने नवंबर तक संपूर्ण महाराष्ट्र को लाक डाउन मुक्त होने का संकेत दिया है . पांचवे   चरण के अनलाक की अवधि 31 अक्टोबर तक बढाई है . इसके बाद अगली घोषणा का लोगों को इन्तजार है .लाक डाउन के चलते शहरों से गाँव गए मजदूर फिर वापस आ रहे है .बड़ी संख्या में लोग गाँवों से पुनः शहरों में आने की तैयारी में हैं .ट्रेनों की कमी के चलते रेल  टिकट मिलने की परेशानी हो रही है .इसके बावजूद ट्रेन , बस व विमान से लोगों का आना जारी है .ट्रेनों की संख्या बढ़ने के साथ मजदूरों  आने में तेजी आयेगी . मुंबई व उपनगरों में काम करने वालों को अभीतक   लोकल ट्रेनों में यात्रा की अनुमति नहीं है . लोकल ट्रेनों में आम लोगों को यात्रा  अनुमति मिलते ही मजदूरों  आने का सिलसिला तेज  जायेगा . शायद लोकल ट्रेन में आम लोगों को यात्रा की अनुमति से भीड़ बढ़ने  आशंका के चलते   ही राज्य सरकार अभीतक  लोकल ट्रेनों में आवश्यक सेवा के आलावा    सामान्य लोगों को अनुमति नहीं दे रही है . आरोग्य मंत्री ने नवंबर तक संपूर्ण महाराष्ट्र की  अनलाक करने का संकेत   देने से निजी क्षेत्र में काम करने वालों की उम्मीदें  बढ़ने लगी है . दशहरा ,दिवाली  जैसे बड़े त्योहारों के मौके पर धंधा ,व्यापार ,बाजारों में रौनक आने की उम्मीद है . सरकार के अगले निर्णय पर लोगों की निगाहें लगी हैं . त्यौहार के मौके पर ही सालाना व्यापार होता है .यही समय होता है जब हर वर्ग  के जेब में पैसे आते है उन्हें अपनी जरुरत के सामान खरीदने का मौका और व्यापारियों को व्यवसाय कर पूरे साल के व्यावसाय की कमी पूरा करने का आवसर होता है .

संबंधित पोस्ट

कोरोना संकट टलने पर मुंब्रा दिवा ले सकते हैं नए शहर का रूप 

Aman Samachar

कोंकण के सभी प्रमुख रेलवे स्टेशनों का सौन्दर्यीकरण का कार्य सात दिन में शुरु करें – रवींद्र चव्हाण

Aman Samachar

अपराधियों में भय व आम जनता में सम्मान पूर्ण माहौल तैयार कर पुलिस विशवास निर्माण करे – उद्धव ठाकरे

Aman Samachar

सारा तेंदुलकर और शुभमन गिल ने एक जैसे कैप्शन के साथ शेयर की तस्वीर, दोनों हो गए ट्रोल

Admin

 आकाश इंस्टीट्यूट के छात्र मेधांश बिरादर इंडियन ओलंपियाड क्वालिफायर इन बायोलॉजी परीक्षा में नेशनल टॉपर बने

Aman Samachar

हफ्ते के आखिरी दिन गिरावट के साथ खुले शेयर बाजार, RIL और HDFC के शेयर टूटे

Admin
error: Content is protected !!