Aman Samachar
ब्रेकिंग न्यूज़
कारोबारब्रेकिंग न्यूज़

फ्यूचर जेनराली इंडिया इंश्योरेंस ने कर्मचारियों को सेल्फ-केयर के लिए मेंटल हेल्थ डे पर दी छुट्टी

मुंबई [ अमन न्यूज नेटवर्क ] मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने और कर्मचारियों को अपनी कई गतिविधियों के केंद्र में रखने की प्रतिबद्धता का उदाहरण पेश करते हुए फ्यूचर जेनराली इंडिया इंश्योरेंस ने मेंटल हेल्थ डे की रोशनी में 11 अक्टूबर को अपने कर्मचारियों हेतु एक दिन के अवकाश का ऐलान किया है। कर्मचारियों को आराम करनेफिर से तरोताजा होने और अपने परिवार के साथ समय बिताने के लिए कुछ समय प्रदान करना इसका उद्देश्य है। इसके अलावा वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे आने तक पूरे सप्ताह भर कर्मचारियों और उनके परिवारजन के लिए कई गतिविधियां और सत्र आयोजित करने की भी योजना बनाई गई है। इनमें बच्चों के आर्ट वर्कशॉप तथा कर्मचारियों व उनके परिवार के सदस्यों के लिए थकान पर काबू पाने हेतु मानसिक स्वास्थ्य को लेकर आयोजित कुछ सत्र शामिल हैं

                    फ्यूचर जेनेराली इंडिया इंश्योरेंस के एमडी एवं सीईओ श्री अनूप राउ ने कहा, “एफजीआईआई में हमारा यह दृढ़ मत है कि मानसिक स्वास्थ्य शारीरिक स्वास्थ्य के जितना ही महत्वपूर्ण है और इस बारे में चर्चा छेड़ने तथा मानसिक स्वास्थ्य के बारे में जागरूकता फैलाने की दिशा में हमने कई पहल की हैं। इसी प्रकार हम यह भी मानते हैं कि कोई संगठन उतना ही मजबूत होता हैजितना कि उसके लोग। हम अपने कर्मचारियों को काम करने का सकारात्मक और अनुकूल माहौल उपलब्ध कराने का निरंतर प्रयास करते रहते हैं। कहा जाता है कि बदलाव हमेशा आपके अपने घर से ही शुरू होता हैइसीलिए हम कथनी और करनी का फर्क मिटाना चाहते हैं और उन पहलों को लागू करना चाहते हैं जो हमारे कर्मचारियों का अपने मानसिक कल्याण पर ध्यान केंद्रित कराएं।

महामारी शुरू होते ही एफजीआईआई ने कर्मचारियों के कल्याण और जुड़ाव की दिशा में कई कदम उठाए थेजैसे कि योग कक्षाएं और कर्मचारियों व उनके परिवारों के लिए आमने-सामने वाली एक हेल्पलाइनजो उन्हें महामारी के कारण उत्पन्न चिंतातनाव या अन्य मानसिक परेशानियों से निपटने हेतु व्यक्तिगत परामर्श देती है।

              दरअसल हमारे समाज में मानसिक स्वास्थ्य और कल्याण पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता। यद्यपि महामारी ने मानसिक स्वास्थ्य पर काफी प्रकाश डाला है तथा शारीरिक व मानसिक रूप से खुद की देखभाल करने की अहमियत को उजागर कर दिया है। एफजीआईआई ने खुद को एक ऐसे नियोक्ता और संगठन के रूप में प्रस्तुत किया हैजो वास्तविक रूप से आंतरिक और बाहरी स्तर पर मानसिक स्वास्थ्य को लेकर संवाद को बढ़ावा देना चाहता है।

संबंधित पोस्ट

मैन्ग्रोज को नष्ट कर खाड़ी की जमीन पर अतिक्रमण पर प्रशासन न ध्यान नहीं – डा जितेन्द्र आव्हाड 

Aman Samachar

भगवन परशुराम सेना का नवरात्रोत्सव , गरबा व डांडिया बना आकर्षण का केंद्र 

Aman Samachar

वी-ट्रांस (इंडिया) लिमिटेड ने दीपक राठी को ग्रुप के मुख्य वित्तीय अधिकारी नियुक्त किया

Aman Samachar

डॉ. अग्रवाल हेल्थ केयर लिमिटेड ने टीपीजी ग्रोथ और टेमासेक से 1,000 करोड़ रुपए से अधिक की जुटाई फंडिंग 

Aman Samachar

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की विशेष एमएसएमई ऋण शिविर में 98 लोगों ने लिया लाभ 

Aman Samachar

फैब्रिक कैम्बोलिव को रेनॉल्ट ब्रांड के मुख्य परिचालन अधिकारी (सीओओ) नियुक्त किया

Aman Samachar
error: Content is protected !!