Aman Samachar
ब्रेकिंग न्यूज़
कारोबारब्रेकिंग न्यूज़

कैप्री ग्लोबल कैपिटल लिमिटेड ने किफायती हाउसिंग लोन – प्राइम लॉन्च

• 7.99% प्रतिवर्ष से शुरू होने वाली सर्वोत्तम ब्याज दर
• लोन लेने वाली महिलाओं के लिए विशेष रियायती दर
मुंबई,  शहरी एवं ग्रामीण इलाकों में किफायती आवास की बढ़ती माँग को पूरा करने के लिए, MSME और हाउसिंग फाइनेंस के क्षेत्र में सर्वाधिक तीव्र गति से विकसित हो रहे NBFC, कैप्री ग्लोबल कैपिटल लिमिटेड (CGCL) ने हाउसिंग लोन – प्राइम को लॉन्च किया है, जिसके अंतर्गत शहरी एवं ग्रामीण इलाकों के ग्राहकों के लिए 7.99% से शुरू होने वाली सर्वोत्तम ब्याज दर का प्रस्ताव दिया जा रहा है। सरकारी, सार्वजनिक तथा निजी क्षेत्र के सभी वेतनभोगी कर्मचारी इस लोन का लाभ उठा सकते हैं। शहरी क्षेत्र में लोन के लिए आवेदन करने वाली महिलाओं को ब्याज दर में 0.10% की विशेष छूट दी जाएगी।
भारत में, किफायती आवास खंड में सुविधाजनक लोन की उपलब्धता काफी कम है, तथा कठोर ऋण नीतियों के कारण लोग अभी भी लोन लेने के लिए संघर्ष करते हैं। सही मायने में आवास देश के समग्र कल्याण के प्रमुख घटकों में से एक है। सही मार्गदर्शन और धन की आसान उपलब्धता से ही सरकार के ‘सभी के लिए किफायती आवास’ के लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। आज ग्राहक बड़ी तेजी से होम लोन देने वाली ऐसी कंपनियों की तलाश कर रहे हैं, जो अधिक सुविधाजनक एवं कस्टमाइज्ड हो तथा उनकी जरूरतों के अनुरूप किफायती भुगतान तंत्र की अनुमति दे सके।
इस योजना को सरकारी, सार्वजनिक और निजी कंपनियों में काम करने वाले वेतनभोगी कर्मचारियों को ध्यान में रखकर बनाया गया है, जिन्हें कम-से-कम एक साल का अनुभव हो और उनका क्रेडिट स्कोर भी अच्छा हो। लोन से मिलने वाली राशि का उपयोग आवासीय इकाई की पुनर्खरीद, पहले से खरीदी गई जमीन पर गृह निर्माण, नवीनीकरण या आवासीय इकाई को पहले से बेहतर बनाने के लिए किया जा सकता है।
भारत में आवासीय क्षेत्र की विभिन्न योजनाओं की जरूरत के बारे में बताते हुए, श्री राजेश शर्मा, मैनेजिंग डायरेक्टर, कैप्री ग्लोबल कैपिटल लिमिटेड, ने कहा, “महामारी से पहले भी बेहतर आवास की जरूरत और माँग लोगों की सबसे बड़ी प्राथमिकता रही है। हम आज भी देखते हैं कि कई लोग टूटे-फूटे घरों में रहते हैं, और एक ही घर में बहुत ज्यादा लोग रहते हैं, साथ ही कई लोगों को तो रहने के लिए घर भी नहीं है। हम मानते हैं कि, पर्याप्त प्रोत्साहन मिलने के बाद तो किफायती आवास क्षेत्र अपने लक्ष्य समूह के विशाल आकार से बड़े पैमाने पर लाभान्वित हो सकता है। RBI, और नेशनल हाउसिंग बैंक (NHB) जैसे सरकारी तथा विनियामक निकायों ने माँग-आपूर्ति के बीच के अंतर को दूर करने, तथा एक पारिस्थितिकी तंत्र बनाने के लिए विभिन्न पहलों की शुरुआत की है, जिसमें शामिल सभी लोगों को सामाजिक और आर्थिक रूप से लाभ होगा।”
CGCL में, हम ग्राहकों की माँग के विषय पर लगातार शोध करते हैं, उनकी जरूरतों का पता लगाते हैं, और उनकी जरूरतों को पूरा करने के लिए अनुकूलित सेवाएं उपलब्ध कराते हैं। हमारे विभिन्न प्रकार के प्रोडक्ट्स तथा आवाज के लिए विशेष योजनाओं का लक्ष्य लोगों को अपना घर खरीदने में सहायता प्रदान करना है, खासतौर पर उन लोगों के लिए जिनके पास किफायती, टिकाऊ और अच्छी गुणवत्ता वाले घर उपलब्ध नहीं हैं। हमें यकीन है कि, आने वाले कुछ सालों में हम आवास क्षेत्र को तीव्र गति से विकसित होता देखेंगे।”

संबंधित पोस्ट

सिक्किम में हुई दुर्घटना में एक परिवार चार लोगों समेत पांच लोगों की मृत्यु

Aman Samachar

अभिनेता बोमन ईरानी बने जीटीपीएल हैथवे के ब्राण्ड अम्बेसडर

Aman Samachar

मायोपिया से पीड़ित लोगों में ग्लूकोमा होने का ख़तरा तीन गुना अधिक 

Aman Samachar

पंजाब नैशनल बैंक की अखिल भारतीय राजभाषा संगोष्ठी संपन्न

Aman Samachar

छत्रपति शिवाजी महाराज अस्पताल में परिजनों के लिए नि:शुल्क भोजन की सुविधा

Aman Samachar

कपड़ा डाइंग के बायलर में लगी आग कोई हताहत नहीं

Aman Samachar
error: Content is protected !!