Aman Samachar
ब्रेकिंग न्यूज़
महाराष्ट्र

छत्रपति शिवजी महाराज की समग्र जीवनी अब हिंदी भाषा में लाने का एक लेखक ने किया प्रयास

ठाणे [युनिस खान ]  छत्रपति शिवाजी महाराज की संपूर्ण जीवनी हिन्दी भाषा में लाने का प्रयास ठाणे के नागरिक लेखक कवी आदित्य दवने ने किया है।  उनका उद्देश्य गैरमराठी भाषियों में शिवाजी महाराज की सही जानकारी से अवगत कराना है। उन्होंने कहा है कि जुलाई-अगस्त के  दौरान एक स्टैंडअप कॉमेडियन ने छत्रपति शिवाजी महाराज का अवमानकारक जिक्र किया। वीडियो काफी वायरल हुआ। शिवभक्तों ने उस पर तीव्र प्रतिक्रिया दी, लाक डाउन में भी शिवभक्तों ने इस घटना का फायदा उठाया। वह शो होने वाली स्टूडियो में तोड़फोड़ हुई। यह वीडियो देख ठाणे के रहिवासी कवि, लेखक आदित्य दवणे जो मराठी साहित्य जगत से जुड़े हुए हैं और मुलुंड के वझे केळकर महाविद्यालय में व्यवस्थापन विषय के प्राध्यापक हैं। उनके मन में विचार आया कि आज मुंबई और भारत भर छत्रपति शिवाजी महाराज के सैकड़ों पुतले है। वे पुतले कई  अमराठी बांधव देखते होंगे लेकिन उस अश्वारूढ़ महान व्यक्तिमत्व का इतिहास पता न होने के कारण ही ऐसी दुर्दैवी घटनाएं घटती हैं। जैसे जहाल प्रतिक्रिया हो सकती है, वैसे ही शिवकीर्ति प्रसार-प्रचार हेतु समस्त भारतीय जनों को उनके राष्ट्रभाषा हिंदी में छत्रपति शिवाजी महाराज का समग्र जीवन चरित्र यूट्यूब के माध्यम से बता कर भी समाज की गरिमा बनाए रखने वाला पर्याय निर्माण किया जा सकता है।  यह सोच रख यह शिवधनुष्य उठाने का आदित्य ने आव्हान स्वीकार किया । शिवशाहिर बाबासाहेब पुरंदरे लिखित राजा शिवछत्रपती यह ग्रंथ का अभ्यास उन्होंने फिर से  शुरू किया। ‘शिवजन्म’ यह दस मिनिट का पहला एपिसोड यानी राजा शिवछत्रपती यह ग्रंथ के 99 पृष्ठ है, जो 1000 शब्दों में संक्षिप्त किए गए है। उनके मित्र इतिहास अभ्यासक कौस्तुभ कस्तूरे ने उन्हें इतिहास की पहेलियाँ सुलझाने तथा एपिसोड के एनिमेशन में सहाय्यता की। आदित्य की मातृभाषा मराठी होने कारण उनके ही महाविद्यालय के हिंदी विषय के प्राध्यापक भरत कृष्णा भेरे ने प्राधिकृत हिंदी के एपिसोड्स को तैयार किया। यूट्यूब का माध्यम होने के कारण विजुअल्स का प्रश्न था, एक दिन आदित्य ने ऑनलाइन क्लास खत्म करते वक्त यह शिवचरित्र का उपक्रम फर्स्ट ईयर के बच्चों को बताया।  उसमे स्वरांग गायकर यह विद्यार्थी आगे आया और उसने मदद करने की इच्छा जताई और अब वह व्हिज्युअल्स की जिम्मेदारी संभाल रहा है।
        इस प्रकल्प से जुड़ा हर व्यक्ति आज तक यह शिवकार्य में अपना साथ दे रहा है। आदित्य कहते है कि इस प्रकल्प की वजह से मुझ में छुपी नई संकल्पना, हिंदी लेखन तथा सादरीकरण, संकलन नई संभावनाओं का छत्रपति शिवाजी महाराज के आशीर्वाद से मुझे पता लगा। आज शिवजयंती के अवसर पर अपनी भावना व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा इस प्रकल्प ने काफी समाधान दिया, अब आगे महाराज का वैभवशाली इतिहास अधिकाधिक भारतीय नागरिकों तक पहुंचाने के लिए सभी नागरिको को यह शिवचरित्र यूट्यूब पर सुनकर, उससे प्रेरणा लेने , उसका प्रचार और प्रसार करने का आदित्य ने आवाहन किया। यह चरित्र Aditya Davane चैनल पर आप सुन सकते हो।

संबंधित पोस्ट

ग्राम पंचायत से नारा लेखन प्रतियोगिता में भाग लेने की जिला परिषद की अपील 

Aman Samachar

स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव पर भाजपा ने आयोजित की विविध निबंध प्रतियोगिता 

Aman Samachar

वृक्षारोपड़ कर शिक्षकों व विद्यार्थियों ने मनाया शिक्षक दिवस

Aman Samachar

तृतीय पंथियों को पहचान पत्र व प्रमाण पत्र वितरण के साथ किया गया स्वास्थ्य परिक्षण 

Aman Samachar

क्लस्टर कार्यान्वयन को लेकर नागरिकों में फैला भ्रम दूर करने की मांग 

Aman Samachar

दस करोड़ रूपये खर्च कर बने शहर के 28 अर्बन रेस्ट रूम शुरू करने की मांग को लेकर भाजपा महिला आघाडी ने किया आन्दोलन

Aman Samachar
error: Content is protected !!