Aman Samachar
ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़स्वास्थ्य

कैंसर अस्पताल के साथ त्रिमंदिर बनने से दवा और दुआ दोनों एक जगह मिलेगी – एकनाथ शिंदे 

ठाणे [ युनिस खान ] सभी आधुनिक सुविधायुक्त ठाणे में आनंद दीघे कैंसर अस्पताल के साथ त्रिमंदिर बनने जा रहा है। कहा जाता ही कि दवा के साथ दुआ की भी जरुरत होती है। दोनों एक जगह हो रहा है कैंसर अस्पताल को धर्मवीर आनंद दीघे क नाम दिए जाने से आज का दिन मेरे जीवन के सबसे आनंद का दिन है। इस आशय का उदगार मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने जीतो एज्युकेशनल एंड मेडिकल ट्रस्ट और टाटा मेमोरियल सेंटर के सहयोग से बनने वाले धर्मवीर आनंद दीघे कैंसर अस्पताल के भूमिपूजन समारोह में व्यक्त किया है।

         आज राष्ट्रीय स्वंसेवक संघ के सरसंचालक डा मोहन भागवत के हाथों बालकुम ग्लोबल अस्पताल के जगह में 600 बेड के कैंसर अस्पताल और त्रिमंदिर का भूमि पूजन किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे , उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस , केन्द्रीय पंचायत राज राज्यमंत्री कपिल पाटील , जिले के पालकमंत्री शंभूराज देसाई , सांसद डा श्रीकांत शिंदे , विधायक संजय केलकर प्रताप सरनाईक , एड निरंजन डावखरे , जिलाधिकारी अशोक शिनगारे , मनपा आयुक्त अभिजीत बांगर , पुलिस आयुक्त जय जीत सिंह , टाटा कैंसर अपताल के डा शैलेश श्रीखंडे , जीतो के ट्रस्टी अजय आशर से अनेक गणमान्य उपस्थित थे।
       इस समारोह में मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि 31 दिसंबर को पूरी दुनिया में अलग अलग तरह से मनाया जाता है लेकिन धर्मवीर आनद दीघे ने रक्तदान दिवस के रूप में मनाने की शुरुआत किया उस परम्परा के आज हम आगे बढ़ा रहे हैं। कैंसर से उपमुख्यमंत्री फाडनवीस के पिता की मृत्यु हुई मेरी मान की मृत्यु भी कैंसर से हुई। कैंसर जैसी बीमारी किसी को न हो ऐसी भावना होती है। भविष्य ने अनेक अस्पताल की जरुरत है। मनपा का पैसा खर्च किये बगैर जीतो के सहयोग से कोरोना के समय 25 दिनों 1200 बेड के कोविड अस्पताल शुरू किया। उस समय विचार आया कि कोरोना के बाद कैंसर अस्पताल शुरू किया जाय। आज जीतो के सहयोग से सर्व आधुनिक सुविधायुक्त कैंसर अस्पताल बन रही है साथ ही यहाँ मरीजों के परिजनों के रहने की भी व्यवस्था की जा रही है। मुख्यमंत्री शिंदे ने जीतो के पदाधिकारियों को धन्यवाद देते हुए आश्वासन दिया कि सरकार हर तरह की सहायता करने के लिए तैयार है किसी प्रकार की कमी नहीं होने पायेगी।
          संघ के सरसंचालक डा भागवत ने अपने संबोधन में कहा कि मनुष्य की तीन मूलभूत सुविधा रोटी , कपडा , मकान से अधिक शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा की जरुरत है। आज शिक्षा और स्वास्थ्य की सुविधा लोगों की आवश्यकता है। लोग चाहते है उनके निकट अस्पताल हो। जीव सेवा शिव सेवा है। उपचार सेवा करने वाले डाक्टर कहते है हमने अपना काम कर दिया है बाकी ऊपर वाले पर है। मनुष्य सेवा इश्वर सेवा है उसमें पवित्रता  चाहिए। सबने मिलकर कोरोना को पराजित किया।  मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि आज दो काम हो रहे हैं मैं दोनों को एक ही मानता हूँ।  एक काम बाकी है वह काम जब  करेंगे तो उसमें भी मैं आऊंगा। डा भागवत ने कहा की आज इस कार्य के लिए मैं मन से शुभकमना दे रहा हूँ यदि आवश्यकता हुई तो संघ से मदद करूँगा।
         उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस ने कहा कि जीतो के साथ जैन समाज है उसे कोई कमी नहीं। देश की जीडीपी में जैन समाज का बड़ा हिस्सा है। देश में होने वाली मृत्यु में 20 फीसदी कैंसर कारण है। जानलेवा बीमारियों में कैंसर दुसरे क्रमांक पर है। भविष्य में कैंसर की बीमारी बढ़ने वाली है। टाटा कैंसर अस्पताल के मार्गदर्शन में यह अस्पताल बन रहा है।  अस्पताल में उपचार और त्रिमंदिर में मानसिक शांति मिलेगी।

      दादा भगवान फाउन्डेशन के परमपूज्य दीपक भाई देसाई ने कहा कि कैंसर अस्पताल में शारीरिक बीमारियों का उपचार होगा और त्रिमंदिर में दुःख , चिंता ,अहंकार और मानसिक दर्द से मुक्ति मिलेगी।

संबंधित पोस्ट

मंदिर में तीन बार चोरी की घटना को लेकर ग्रामीणों ने पुलिस से कार्रवाई मांग की 

Aman Samachar

ऑर्किड्स – द इंटरनेशनल स्‍कूल में मनाया गया बाल दिवस समारोह

Aman Samachar

कोकण विभागीय सूचना कार्यालय में कोरोना सुरक्षात्मक किट वितरित

Aman Samachar

एसजेवीएन ने सौर ऊर्जा परियोजनाओं के विकास के लिए आरईआईएल के साथ किया एमओयू साइन 

Aman Samachar

उद्योगों के सहयोग के चलते महाराष्ट्र निवेशकों के लिए पसंदीदा राज्य है – मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे

Aman Samachar

गट विकास अधिकारी की पिटाई करने वाले उपाध्यक्ष को गिरफ्तार करने की मांग 

Aman Samachar
error: Content is protected !!