Aman Samachar
ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़महाराष्ट्र

जिले में कोरोना को रोकने के लिए प्रशासन व आरोग्य विभाग पूरी तरह सतर्क – जिलाधिकारी 

ठाणे [ युनिस खान ] कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जिला प्रशासन व आरोग्य विभाग रात दिन प्रयास में लगा है। जिले के पांच स्थानों में आरटीपीसीआर केंद्र शुरू किया गया है जहाँ जांच के बाद संक्रमित मरीजों की तत्काल जानकारी मिलने से उनका उपचार किया जा सके। ठाणे जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर के मार्गदर्शन में जिला नियोजन निधि से केंद्र शुरू करने व आवश्यक सामग्री खरीदने के लिए आठ करोड़ रूपये की निधि खर्च करने की व्यवस्था की गयी।  मार्च 2020 में पहला कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के बाद से जिला प्रशासन व आरोग्य विभाग सतर्क हो गया। जिले में कोरोना के बढ़ते फैलाव को रोकने के लिए जिले की ठाणे , नवी मुंबई , मीरा भाईंदर , कल्याण डोंबिवली , भिवंडी निजामपुर , उल्हास नगर मनपा व अंबरनाथ , बदलापुर कुलगांव नगर पालिका के साथ जिला परिषद के कार्यक्षेत्र में आने वाले ग्रामीण इलाके में कोरोना की जाँच व उपचार के लिए प्रबंध किये गए। जिले के पालकमंत्री एकनाथ शिंदे ने जिला प्रशासन , स्थानीय स्वराज्य संस्था समेत विविध विभागों के अधिकारीयों की बैठक लेकर कोरोना को रोकने व  उसके नियंत्रण और उपचार आदि के   लिए सरकार से हरसंभव मदद दिलाने  आश्वासन दिया।  अप्रैल ,  मई , जून ,जुलाई , अगस्त व सितम्बर माह में कोरोना मरीजों की संख्या में हो रही वृद्धि को रोकने के लिए आरोग्य विभाग की देखरेख में निजी संस्थाओं की मदद लेकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने व घर घर जाकर सर्वेक्षण करने के काम में लगाया है। जिले के शहरी व ग्रामीण इलाके के मरीजों को बेड उपलब्ध कराने के लिए कोविड अस्पातल व क्वारंटाइन सेंटर बनाए गए। कुछ निजी अस्पतालों को अधिग्रहित कर कोविड अस्पताल बनाया गया। कोरोना संक्रमण को कम  कर धीरे धीरे लाक डाउन को शिथिल किया। दूकान खोलने की अनुमति के बाद दिवाली के मौके पर लोगों को बाजार न खरीदी करने का मौका मिला।दिवाली के बाद कोरोना मरीजों की संख्या में वृद्धि के   मद्देनजर कोरोना की तीसरी पीक आने की आशंका व्यक्त की जाने लगी।  जिसे देखते हुए मनपा व जिला प्रशासन ने लोगों की जांच व नागरिकों के सर्वेक्षण करने  कार्य  तेज कर दिया। अधिक जांच के बावजूद कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी आने से जिला प्रशासन को राहत मिलती दिखाई दे रही है इसके बावजूद अभी भी पूरी यंत्रणा सतर्क है। जिला प्रशासन की ओर से भिवंडी निजामपुर ,मीरा भाईंदर ,उल्हासनगर  तीन मनपा , बदलापुर अंबरनाथ मनपा में एक व  ग्रामीण क्षेत्र के पडघा में एक कुल पांच आरटीपीसीआर केंद्र शुरू किया है। उक्त केन्द्रों पर प्रतिदिन करीब 200 से 250 लोगों की कोरोना   जांच की जा रही है।  प्रत्येक केन्द्रों में 10 हजार आरटीपीसीआर किट उपलब्ध करायी है।  जिला प्रशासन के साथ ही मनपा क्षेत्र में मनपा प्रशासन , जिला परिषद  आरोग्य विभाग कोरोना को रोकने के लिए पूरी तरह से मुस्तैद है।  कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी व मरीजों के स्वास्थ्य होने का अनुपात अधिक होने से प्रशासन के लिए राहत माना जा रहा है।

संबंधित पोस्ट

 अच्छी सेहत व तंदुरुस्ती के संदेश पहुंचाने के लिए न्यूबर्ग डायग्नोस्टिक्स ने एम.एस. धोनी के साथ साझेदारी की

Aman Samachar

डंपिंग ग्राउंड की समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए किराए पर दिवा से बाहर भूखंड की तलाश 

Aman Samachar

महाविकास आघाडी के महाराष्ट्र बंद का ठाणे शहर व जिले में मिला जुला असर 

Aman Samachar

आरबीआई के रिपो दरें बढ़ाने का सीधा परिणाम ,बैंक की 10 करोड़ रुपये तक की सावधि जमा पर ब्याज में वृद्धि

Aman Samachar

डेढ़ हजार रूपये की सरकारी मदद लिए 22 मई से रिक्शा चालकों का आन लाईन पंजीकरण शुरू 

Aman Samachar

आवश्यक सेवा कर्मियों के साथ जन प्रतिनियों को कोरोना टीका  प्राथमिकता से उपलब्ध करने की महापौर ने की मुख्यमंत्री से मांग

Aman Samachar
error: Content is protected !!