Aman Samachar
ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़महाराष्ट्र

राजीव गांधी उड़ानपुल की मरम्मत करने से ठेकेदार कंपनी का इंकार, मनपा ने जारी किया नोटिस

 भिवंडी [ एम हुसेन ]  भिवंडी के राजीव गांधी उड़ानपुल के जर्जर होने से बड़े एवं भारी वाहनों के आवागमन पर रोक लगा दी गई है। मनपा ने उड़ानपुल की मरम्मत के लिए दिल्ली की एक कंपनी को डेढ़ वर्ष पहले ठेका देते हुए 120 दिन का समय दिया गया था। लेकिन ठेकेदार कंपनी ने उड़ानपुल की मरम्मत करने से इंकार कर दिया है।
    शहर के मुख्य मार्ग पर लगभग 14 साल पहले  21.97 करोड़ करोड़ रुपए खर्च करके सवा किलोमीटर लंबा राजीव गांधी उड़ानपुल बनाया गया था। उड़ानपुल का निर्माण करने वाले ठेकेदार ने निविदा में दी गई शर्त के तहत उड़ानपुल की मोटाई छह इंच कम कर दिया था। लगभग तीन साल पहले उड़ानपुल की हालत काफी खराब होने के कारण बड़े एवं भारी वाहनों के लिए उड़ानपुल बंद कर दिया गया है। जिसके लिए उड़ानपुल के दोनों ओर बैरीकेटिंग के लिए मनपा द्वारा 10 लाख रुपए से अधिक खर्च करने की बात सामने आ रही है। इस पुल का स्ट्रक्चरल ऑडिट कर रही वीजेटीआई कंपनी ने पुल की मरम्मत के लिए 6.81 करोड़ रुपए खर्च का स्टीमेट बनाया था, जिसका भुगतान एमएमआरडीए द्वारा किया जाना था । उड़ानपुल की मरम्मत के लिए मनपा द्वारा पांच अगस्त 2019 को निविदा जारी हुई , जिसमें 20 अगस्त को दिल्ली की एक निजी कंपनी को उड़ानपुल की मरम्मत का ठेका दिया गया था। उड़ानपुल की मरम्मत का सारा काम वीजेटीआई की देखरेख में किया जाना था। निविदा में मनपा द्वारा उड़ानपुल की मरम्मत के लिए 120 दिन का समय दिया गया था, लेकिन निर्धारित समय के बाद भी ठेकेदार ने काम शुरू न कर ठेका लेने के लगभग डेढ़ साल बाद ठेकेदार कंपनी ने अचानक काम करने से इंकार कर दिया। प्राप्त जानकारी के अनुसार  कंपनी को 20 सितंबर 2019 को वर्कआर्डर देने के दो-तीन महीने बाद ही काम शुरू करना था परंतु ऐसा नहीं हुआ उसके बाद लॉकडाउन लग गया था। जिसके कारण कंपनी समय पर काम नहीं कर सकी ,इस संबंध में मनपा के शहर अभियंता एल.पी. गायकवाड़ ने बताया कि कंपनी द्वारा उड़ानपुल की मरम्मत करने से अचानक इंकार करने के कारण मनपा द्वारा उसे कारण बताओ नोटिस दिया गया था। नोटिस की अवधि भी समाप्त हो गई है लेकिन कंपनी ने कोई उत्तर नहीं दिया। जिसके कारण मनपा द्वारा सोमवार को भी कंपनी को अंतिम नोटिस दिया दिया जिसके बाद टेन्डर निकालने की तैयारी चल रही है । उड़ानपुल की मरम्मत का काम शुरू करने के लिए कंपनी ने पुलिस उपायुक्त कार्यालय के सामने उड़ानपुल के नीचे मजदूरों के रहने एवं सामान आदि रखने के लिए पतरे का शेड भी बना दिया था । उड़ानपुल की मरम्मत के लिए केवल यातायात पुलिस को अधिसूचना जारी करना था। यातायात पुलिस यह इन्तजार कर रही थी कि जैसे ही ठेकेदार कंपनी एवं मनपा द्वारा मरम्मत करने की जानकारी दिया जाएगा ,यातायात के लिए तुरंत अधिसूचना जारी कर दिया जाएगा। लेकिन लगभग 15-20 दिन पहले ही कंपनी द्वारा उड़ानपुल के नीचे से पतरा आदि हटा दिया गया और उड़ानपुल की मरम्मत करने से इंकार कर दिया गया जो शहर के लिए चिंता का विषय बना हुआ है ।

संबंधित पोस्ट

कक्षा 12वीं के छात्रों के लिए एचसीएल का टेकबी प्रोग्राम पेश करता है आरम्भिक करियर के अवसर  

Aman Samachar

शापूरजी पाल्लोनजी रियल एस्टेट ने ठाणे में लग्जरी रेजिडेंशियल प्रोजेक्ट स्काईरा किया लॉन्च 

Aman Samachar

नेरुल अस्पताल का रिकार्ड रूम मनपा आयुक्त के निर्देश पर 10 दिनों में हुआ व्यवस्थित 

Aman Samachar

बच्चों के लिए विशेष खसरा – रूबेला टीकाकरण अभियान, 15 दिसंबर से 25 जनवरी तक

Aman Samachar

ऐरोली व घनसोली विभाग में शुरू अनधिकृत निर्माण पर मनपा का चला हथौड़ा 

Aman Samachar

ठाणे जिले के लिए राशन कार्ड पर मिलने वाले राशन की दर घोषित 

Aman Samachar
error: Content is protected !!